पर्यूषण महापर्व: पुराना घेरखोखल मंदिर में फनधारी सुपार्श्वनाथ भगवान की प्रतिमा है चमत्कारिक

  |   Firozabadnews

फिरोजाबाद में दिगंबर जैन सुपार्श्वनाथ घेरखोखल मंदिर नगर के प्राचीन मंदिरों में एक है। कोलकाता निवासी हुलासराय अग्रवाल राजा परिवार ने इस मंदिर को स्थापित कराया था। यह मंदिर दो सौ वर्ष से अधिक पुराना है। भक्तों का मानना है कि इस मंदिर में चमत्कारी प्रतिमाएं विराजमान हैं।

मंदिर कमेटी के पदाधिकारी बताते हैं कि चंद्रप्रभु मंदिर में विराजमान स्फटिकमणि की प्रतिमा चंद्रवार में निकली थी। उसे सर्वप्रथम इसी मंदिर में विराजमान किया गया था। वर्तमान में इस मंदिर में मूलनायक सुपार्श्वनाथ भगवान की चमत्कारी प्रतिमा है, जो कसौटी के पत्थर से बनी हुई है।

पीडी जैन इंटर कॉलेज के सामने लगने वाला जैन मेला भी इसी मंदिर से शुरू होता है। चांदी का रथ एवं उस पर विराजमान भगवान महावीर की प्रतिमा भी इसी मंदिर से रथ पर विराजमान होती है। यहीं मेला का समापन भी होता है। अनंत चतुर्थदशी के एक दिन बाद इस मंदिर में जलधारा महोत्सव का आयोजन किया जाता है।...

फोटो - http://v.duta.us/ahcLRgEA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1ZcOiQAA

📲 Get Firozabad News on Whatsapp 💬