रेलवे स्टेशन पर अंग्रेजों के जमाने की १०७ वर्ष

  |   Betulnews

रेलवे स्टेशन पर अंग्रेजों के जमाने की १०७ वर्ष पुरानी लगाई घंटी

आमला और इटारसी के बीच १९१२ में चली थी पहली टे्रन।

बैतूल। अंग्रेजों के जमाने में टे्रनों की सूचना के लिए रेलवे स्टेशनों पर घंटी लगाई जाती थी। बैतूल में पहली टे्रन वर्ष १९१२ में आमला से इटारसी के बीच चली थी। इस समय बैतूल स्टेशन पर सूचना के लिए अंग्रेजों ने एक घंटी लगाई थी। इस घंटी को रेलवे विभाग द्वारा दोबारा रेलवे स्टेशन पर लगाया गया है। यह घंटी १०७ वर्ष पुरानी है और कांस्य की बनी हुई है। घंटी को सागौन की फे्रम लगाया है। स्टेशन प्रबंधक वीके पॉलीवाल ने बताया कि अंग्रेजों के समय में रेलवे गे्रट इंडियन पेनेसूएला रेलवे के नाम से जाना था। अंग्रेजों द्वारा ही रेलवे को सामान उपलब्ध कराया जाता था। ये सामान ब्रिटिश में बनते थे। यह घंटी भी ब्रिटिश में बनी हुई है और १०७ वर्ष पुरानी है। इसका वजन ४ से ५ किलो है। रेलवे के स्टोर में रखी हुई थी। जिसे एक दिन के लिए रेलवे स्टेशन परिसर में रखा गया था। अब इसे सुरक्षित प्रबंधक कार्यालय में रखा जाएगा। यह हमारी एतेहासिक धरोहर है। स्टेशन पर शुक्रवार इस घंटी के लगाए जाने पर लोगों में इसे देखने उत्साह रहा।...

फोटो - http://v.duta.us/ohmc1AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/mHCPbgAA

📲 Get Betul News on Whatsapp 💬