वो बुरा वक्त था जो गुजर गया. पुराना रिश्ता यूं ही नहीं टूटता

  |   Shamlinews

वो बुरा वक्त था जो गुजर गया. पुराना रिश्ता यूं ही नहीं टूटता

रोहित अग्रवाल

शामली। छह वर्ष बाद भी मुजफ्फरनगर दंगे को याद कर लोग सिहर उठते हैं। दंगे की आग में लांक, लिसाढ़ और बहावड़ी गांव के लोग भी बहुतायत में प्रभावित हुए थे। उनके खंडहर बने मकान आज भी उस खौफनाक मंजर की गवाही दे रहे हैं। मगर समय के साथ साथ माहौल बदला है। दंगा पीड़ितों ने अपने मकान तो बेच दिए, लेकिन दिल आज भी यहीं से जुडे़ हैं। कई लोगों का मानना है कि सालों पुराना रिश्ता यूं ही नहीं टूूटता। वो बुरा वक्त था जो गुजर गया।...

फोटो - http://v.duta.us/eLWfegAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FW8HEAAA

📲 Get Shamli News on Whatsapp 💬