शरीर पर गिरे केमिकल के छींटे, चार बच्चे झुलसे

  |   Unnaonews

नवाबगंज। अजगैन कोतवाली क्षेत्र के बाबकुटी में मवेशी चरा रहे बच्चे केमिकल की चपेट में आने से झुलस गए। बच्चों ने जमीन पर पड़ी एक बोतल को उठाकर सड़क पर फेंका था। तभी ट्रक का पहिया बोतल पर पड़ते ही वह फट गई थी। बोतल से निकले तरल पदार्थ शरीर पर पड़ते ही चार बच्चे झुलस गए। जिन्हें परिजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया। बच्चों की हालत सामान्य है।

अजगैन कोतवाली क्षेत्र नवई निवासी श्यामू (16) पुत्र छोटे लाल, सचिन (17) पुत्र बदरु, शाहरूख (14) पुत्र मोहर्रम अली व हरिश्चंद्र (18) पुत्र लालता प्रसाद साथियों के साथ बाबकुटी के पास मवेशी चराने गया था। यहां उन्हें जमीन पर कुछ बोतलें पड़ी मिली। श्यामू व उसके साथियों ने खेल-खेल में कुछ बोतले उठाकर सड़क पर फेंकना शुरू कर दिया। इस दौरान एक बोतल ट्रक के पहिए के नीचे आकर फट गई। इससे बोतल से एक तरल पदार्थ निकला जो सीधे बच्चों के शरीर पर आकर गिरा। इससे बच्चों के शरीर में जलन होने लगी। बच्चे घर पहुंचकर परिजनों को जानकारी दी। शरीर में झुलसने जैसा निशान देख परिजन परेशान हो गए और उन्हें लेकर एक प्राइवेट अस्पताल पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने किसी केमिकल से झुलसने की बात कही। बच्चों की हालत सामान्य है। अजगैन कोतवाली प्रभारी अजयराज वर्मा ने बताया कि उन्हें घटना की सूचना नहीं है। उधर, नवई ग्राम प्रधान अजय लोधी ने बताया कि एक वर्ष पूर्व गांव के बाहर जंगल में एक्सपायरी डेट की सरकारी दवाएं मिली थी। इन दवाओं को जमीन में डंप कराने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारियों ने दिए थे लेकिन डंप नहीं कराया गया था। ग्रामीण उन दवाओं की पड़ी बोतलों से बच्चों के झुलसने की संभावना जता रहे हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/SSVhgwAA

📲 Get Unnao News on Whatsapp 💬