600 आशाओं को चुनौती साबित हो रहा मानदेय हासिल करना

  |   Bhindnews

भिण्ड. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) द्वारा शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में नियुक्त की गईं आशा, उषा तथा आशा सहयोगिनी आदि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को जच्चाओं की निगरानी के एवज में प्रति जच्चा मिलने वाली 600 रुपए की प्रोत्साहन राशि पाने के लिए कई तरह के पापड़ बेलने पड़ रहे हैं। संबंधित विभागीय कर्मचारियों की हठधर्मी के कारण उनको यह मामूली सी प्रोत्साहन राशि उस वक्त भुगतान हो पाती है जब जच्चा को 9 माह बाद प्रसव हो जाता है। इसमें भी अगर किसी आशा से जच्चा व बच्चा की मॉनीटरिंग व तत्संबंधी जानकारी के दस्तावेजीकरण में कोई चूक हो गई तो प्रोत्साहन राशि देने से ही वंचित कर दिया जाता है।...

फोटो - http://v.duta.us/5eX3TwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QugQMwAA

📲 Get Bhind News on Whatsapp 💬