एआरटीओ कार्यालय का नहीं खुला ताला, आवेदक बैरंग लौटे

  |   Farrukhabadnews

वकीलों व एआरटीओ के बीच शुरू हुआ विवाद अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है। हटाए जाने के बाद एआरटीओ सुधेश तिवारी ने रविवार रात को अपना इस्तीफा राज्यपाल को भेज दिया। इसके बाद सोमवार सुबह एआरटीओ कार्यालय का ताला ही नहीं खुला। इससे आवेदकों को बैरंग लौटना पड़ा। पीटीओ का मोबाइल बंद है। एआरटीओ का कहना है कि भय की वजह से सभी अधिकारी व कर्मचारी छुट्टी पर चले गए हैं। उन्होंने कार्यालय की चाभी आरटीओ कानपुर के पास भेज दी है।

एआरटीओ सुधेश तिवारी से 26 अगस्त को कचहरी में मारपीट की गई थी। एआरटीओ ने छह वकीलों पर मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद वकीलों ने आंदोलन कर एआटीओ पर गंभीर आरोप लगाकर शासन में शिकायत की थी। इस पर शनिवार को एआटीओ को लखनऊ स्थित परिवहन आयुक्त के कार्यालय में संबद्ध कर दिया गया।...

फोटो - http://v.duta.us/LyCk0wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/gDj2hAAA

📲 Get Farrukhabad News on Whatsapp 💬