ऑटो कंपोनेंट सेक्टर भी सुस्ती की चपेट में आया

  |   Jaipurnews

यात्री वाहनों की बिक्री में लगातार 10वें महीने गिरावट दर्ज की गई है। वाहनों की बिक्री पिछले साल के समान महीने के मुकाबले 31.57 फीसदी कम रही। सियाम के मुताबिक पिछले महीने घरेलू बाजार में कुल 1.96 लाख यात्री वाहन बिके। अगस्त २०१८ में 2.87 लाख यात्री वाहन बिके थे। इसके कारण ऑटो कंपोनेंट सेक्टर के पास जितना काम करने की क्षमता है, उसके मुकाबले उसके पास काम घटकर महज 50 से 60 फीसदी रह गया है। जैने ने कहा कि स्थिति जब सामान्य थी, तब सेक्टर के पास क्षमता के मुकाबले 75 से 80 फीसदी काम था। वाहन उद्योग की सबसे बड़ी समस्या यह है कि बीएस-6 उत्सर्जन मानक अपनाने पर भी कंपनियों को भारी-भरकम निवेश करना पड़ रहा है। बीएस-6 मानक एक अप्रेल 2020 से लागू होने वाला है। यह अधिक सख्त उत्सर्जन मानक है। इसके लिए वाहनों को अपने उपकरणों में व्यापक बदलाव करना पड़ रहा है। सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक कारों की घरेलू बिक्री अगस्त में 41.09 फीसदी गिरकर। गत महीने भारतीय बाजार में 1,15,957 कारें बिकीं। पिछले साल की समान अवधि में यह आंकड़ा 1,96,847 था।सियाम के मुताबिक गत महीने मोटरसाइकिल्स की बिक्री साल-दर-साल आधार पर 22.33 फीसदी कम रही। इस दौरान 9,37,486 यूनिट्स की बिक्री हुई। पिछले साल की समान अवधि में 12,07,005 मोटरसाइकिल्स बिकी थी।सभी प्रकार के दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री अगस्त में पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 22.24 फीसदी घट गई। पिछले महीने भारतीय बाजार में कुल 15,14,196 दोपहिया वाहन बिके थे। एक साल पहले की समान अवधि में यह आंकड़ा19,47,304 था।सियाम के आंकड़ों के मुताबिक वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में 37.71 फीसदी गिरावट रही। आलोच्य अवधि में देश में 51,897 वाणिज्यिक वाहन बिके थे।अगस्त में घरेलू बाजार में समग्र वाहन उद्योग में गिरावट दर्ज की गई। इस दौरान सभी प्रकार के वाहनों की कुल बिक्री में 23.55 फीसदी गिरावट रही। गत महीने देश में कुल 18,21,490 वाहन बिके। पिछले साल की समान अवधि में देश में कुल 23,82,436 वाहन बिके थे।

फोटो - http://v.duta.us/xbeVWgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/D-fEYAAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬