ड्रायफ्रूट का सालाना 12 करोड़ का कारोबार होगा प्रभावित

  |   Ratlamnews

रतलाम. हमारे यहां पर न तो ड्रायफूट का उत्पादन होता है। न ही इसकी खरीदी-बिक्री होती है। इसके बाद भी सरकार द्वारा इस पर 1.5 प्रतिशत मंडी टैक्स लगाने का तुगलगी निर्णय किया है। इस निर्णय से जहां आमजन की जेब ढीली होगी। वहीं व्यापारी पहले ही एक्साइज ड्ूयूटी व जीएसटी की कागजी प्रक्रिया से परेशान है। ऐसे में मंडी टैक्स जोडऩे से उसकी परेशानी बढ़ जाएगी। मंडी टैक्स के कारण जिले में सालाना होने वाले 12 करोड़ के कारोबार पर असर पड़ेगा।

जेब पर पड़ेगा अतिरिक्त भार

अधिकतर ड्रायफूट का बाहर से आयात हो रहा है। ऐसे में इस पर मंडी टैक्स लगाने से इनके दाम और बढ़ जाएंगे। इसका रोस्टेशन फास्ट नहीं होने से इसका रखरखाव भी महंगा पड़ता है। ऐसे में * सेल में तीन से 15 रुपए प्रतिकिलो व रिटेल में लोगों की जेब पर 30 रुपए से लगाकर 60 रुपए प्रतिकिलो का भार पड़ेगा।...

फोटो - http://v.duta.us/26mWxQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/aALjTwAA

📲 Get Ratlam News on Whatsapp 💬