बाघों के लिए जबलपुर में बनेगा अभ्यारण्य, प्रस्ताव पर अंतिम चर्चा इसी महीने

  |   Jabalpurnews

जबलपुर/ नेशनल पार्कों की कैरिंग कैपेसिटी फुल होने से संरक्षित जंगल से बाहर जाने वाले बाघों को नया ठिकाना उपलब्ध कराने के लिए जबलपुर वन सर्किल के पश्चिम मंडला वन मंडल में नया वन्यप्राणी अभयारण्य बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। वन विभाग ने वन मुख्यालय भोपाल को राजा दलपत शाह वन्यप्राणी अभयारण्य बनाने का प्रस्ताव भेजा है। इससे नर्मदा के डूब क्षेत्र में पेड़ों की कटाई और चुटका परियोजना से होने वाले पर्यावरणीय नुकसान की भरपाई होने की भी सम्भावना है।

पश्चिम मंडला वनमंडल के जबलपुर से लगे चार रेंज बरेला, बीजाडांडी, काल्पी और टिकारिया के कुछ क्षेत्रों को मिलाकर 35 हजार किमी जंगल को अभयारण्य घोषित करने की योजना है। इन क्षेत्रों में 55 राजस्व और 15 वनग्राम शामिल हैं। भोपाल मुख्यालय ने गांवों की शिफ्टिंग, लकड़ी और लघु वनोपज के उत्पादन के आर्थिक अनुमान की रिपोर्ट मांगी है। जबलपुर वन सर्किल में 12 सितम्बर को होने वाली बैठक में सम्बंधित क्षेत्र के डीएफओ रिपोर्ट तैयार कर इसके अंतिम स्वरूप पर विचार-विमर्श करेंगे।...

फोटो - http://v.duta.us/yhnu7QAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/U4bGEAAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬