बेटी के शरीर में बचा था मात्र 6 ग्राम खून, जान बचाने परिजनों ने निचोड़ दिया अपना खून लेकिन ब्लड बैंक वालों ने खेला ऐसा खेल कि...

  |   Bilaspur-Chattisgarhnews

बिलासपुर. शारीरिक रुप से कमजोर नाबालिग की इलाज के लिए सिम्स मेडिसीन विभाग में भर्ती किया गया है। डाक्टर ने नाबालिग के शरीर में पांच ग्राम खून होने की जानकारी दी। तब नाबालिग के परिजन ने अपने परिचितों को ब्ल्ड डोनेट करने के लिए सिम्स बुलाया डोनर ने तीन बाटल ब्लड डोनेट किए एक बाटल उसी दिन चढ़ा दिया गया दो बाटल को डाक्टर ने सिम्स के ब्ल्ड बैंक में रखवाने के लिए कहा।

दो दिन बाद जरुरत पडऩे पर ब्लक की मांग की गई तो ब्लड बैंक के प्रभारी यह कहते हुए मरीज के परिजन को भगा दिया कि उस ब्लक को दूसरे मरीज को दे दिए हैं। बिल्हा निवासी राजेश शर्मा ने बताया चार दिन पहले बिल्हा में रहने वाले अनिता मानिकपुरी उम्र 13 वर्ष को कमजोरी के कारण सिम्स में भर्ती किया गया। डाक्टर ने जांच के बाद अनिता के शरीर में 5 ग्राम खून होने की जानकारी दी।...

फोटो - http://v.duta.us/GmVLhgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/GIcm7wAA

📲 Get Bilaspur-Chattisgarhnews on Whatsapp 💬