Thakurji Rewadi: हाथी-घोड़ा पालकी, जय कन्हैयालाल की...

  |   Ajmernews

अजमेर. जलझूलनी (jaljhulani ekadashi) पर सोमवार को शहर में ढोल-ढमाके और गाजे-बाजे (music and band) के साथ ठाकुरजी (thakuraji) की पारम्परिक रेवाडिय़ां निकाली गई। लोगों ने हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैयालाल की...के जयकारे लगाते हुए ठाकुरजी को जल विहार (water) कराया। लोगों ने छोटे बच्चों-शिशुओं (babies) को रेवाड़ी के नीचे से निकाल कर, श्रीफल (coconut) चढ़ाकर घर-परिवार में खुशहाली की कामना की।

भाद्रपद की जलझूलनी एकादशी पर मेयो कॉलेज (mayo college ajmer) में विभिन्न सदनों के छात्रों ने पारम्परिक रंग-बिरंगे साफे बांधकर श्रीकृष्ण मंदिर से ठाकुरजी की रेवाड़ी (traditional procession) निकाली। छात्रों ने घडिय़ाल, शंख बजाते हुए ठाकुरजी को स्वीमिंग पूल (swimming pool) में जल विहार कराया। इसी तरह अखिल भारतीय बसीटा धोबी महासभा पुष्कर के तत्वावधान में गाजे-बाजे के साथ भगवान राधाकृष्ण की रेवाड़ी (rewadi) निकाली गई। शांतिपुरा सत्यानाराण मंदिर से रेवाड़ी एलआईसी कॉलोनी (LIC Colony) होती हुई वापस मंदिर (temple) पहुंची।...

फोटो - http://v.duta.us/CDjKzgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/l4ra7QAA

📲 Get Ajmer News on Whatsapp 💬