Waste To Energy Plant : पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान को यहां लगा झटका, बंद होने की कगार पर वेस्ट टू एनर्जी प्लांट

  |   Jabalpurnews

जबलपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान को ठोस धरातल पर उतारने के लिए जबलपुर में शुरू हुआ महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट अब दम तोडऩे की कगार पर पहुंच गया है। पीएम अपने भाषणों में जबलपुर के कठौंदा स्थित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट का कई बार जिक्र भी कर चुके हैं। बीते दिनों जबलपुर जिले के प्रभारी मंत्री और मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह एवं नगरीय विकास मंत्री जयवद्र्धन सिंह ने कठौंदा स्थित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट तथा दमोहनाका स्थित कंट्रोल एंड कमांड सेंटर एवं आईटीएमएस सेंटर का अवलोकन किया।

बड़ा सवाल प्लांट बंद हुआ तो कैसे होगा कचरे का निपटान

वेस्ट टू एनर्जी प्लांट को पर्याप्त कचरा नहीं मिल पा रहा है। प्लांट को पूरी क्षमता से चलाने के लिए 600 टन कचरे की जरूरत होती जबकि जबलपुर नगर निगम जैसे-तैसे करके 400 टन ही उपलब्ध करा पाता है। इन हालात में प्लांट चलाना न केवल घाटे का सौदा साबित हो रहा बल्कि बिजली का उत्पादन लक्ष्य के अनुरूप नहीं हो रहा। सूत्रों की मानें तो पौने दो सौ करोड़ का यह वेस्ट टू एनर्जी प्लांट बिकने की कगार पर पहुंच चुका है। अगर ऐसा हुआ तो जबलपुर से निकलने वाले कचरे के निपटान की बड़ी समस्या खड़ी हो जाएगी।...

फोटो - http://v.duta.us/iTjxoQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/GEXRhwAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬